बैंक में भोले भाले लोगों से नोट गिनने के बहाने बड़ी चालाकी से हाथ की सफाई से आरोपी देता है घटना को अंजाम, आरोपी से नगदी रकम 8500 रुपए तथा मोटरसाइकिल जप्त, अर्जुंदा पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

बालोद। पुलिस अधीक्षक जितेंद्र कुमार यादव के आदेश अनुसार और पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर तथा अनुविभागीय पुलिस अधिकारी गीता वाधवानी के देखरेख में 27 मार्च को अर्जुंदा के जिला सहकारी बैंक में हुए चोरी के मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

ग्राम कोटगांव के किसान टाभल राम  पैसा निकालने के बाद बैंक से बाहर जा रहा था तभी एक व्यक्ति आया और उसे पैसा गिनने में मदद करने की बहाना बनाकर किसान द्वारा निकाले गए नगदी पैसे में से 9500 रुपए की चोरी करके ले गया। आरोपी को पकड़ने के लिए एक विशेष टीम गठित किया गया था। आरोपी का तलाश करके चोरी के नगदी रकम 8500 रुपए आरोपी से बरामद कर लिया गया है।

आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। घटना घटित होने के बाद पुलिस टीम के द्वारा लोगों से सूचना इकट्ठा करके सीसीटीवी कैमरे की मदद से और पुराने रिकॉर्ड के आधार पर संदेही को पहचान कर आरोपी की पता तलाश में दुर्ग में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। जैसे ही आरोपी बाहर निकला पुलिस ने उसे पकड़ कर बालोद लाया।

पूछताछ के दौरान अख्तर अली ने बताया कि वह अपने चेक खर्चे के लिए ग्रामीण क्षेत्र के बैंक में जाकर ताक झांक करता था। जो आदमी भोला भाला दिखता था उसे बहुत ही प्यार से पैसा गिरन के बहाने उसके हाथ में रखे पैसे को लेकर उसी के सामने गिनता है। और बड़ी चतुराई से उस पैसे में से कुछ पैसे को अपने पास रख कर बोलता था कि इसमें से कुछ नोट फटा हुआ है उसे आप काउंटर पर जाकर वापिस करो तब तक आरोपी वहां से अपनी मोटरसाइकिल को लेकर गायब हो जाता है। इसे आरोपी अख्तर अली अपने हाथ की सफाई बोलता है।

बालोद पुलिस सभी से निवेदन किए हैं कि बैंक में लेनदेन करते समय किसी भी अज्ञात व्यक्ति पर भूलकर भी भरोसा ना करें। अपनी मेहनत की कमाई को लेकर घर में सुरक्षित लिए। अज्ञात आरोपी को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी अर्जुंदा उप निरीक्षक शिशिर पांडे, आत्माराम धनेलिया, प्रआर भुनेश्वर मरकाम, आर राहुल मनहरे, आकाश दुबे, विवेक शाही, विपिन गुप्ता, वफादार और सुधाकर भारद्वाज की विशेष भूमिका रही है।

Leave a Comment