Surya Grahan 2023: 20 अप्रैल को साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानिए आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा

Surya Grahan 2023: 20 अप्रैल यानी कि आज साल का पहला सूर्य ग्रहण शुरू हो चुका है आपको बता दें कि आज वैशाख अमावस्या भी है। यह सूर्य ग्रहण बहुत ही खास होने वाला है। क्योंकि इस बार 1 दिन में तीन प्रकार का सूर्य ग्रहण दिखेगा जिसे वैज्ञानिकों ने हाइब्रिड सूर्य ग्रहण का नाम दिया है। इस सूर्य ग्रहण में आंशिक, पूर्णा और कुंडला कार सूर्य ग्रहण शामिल होंगे। ग्रहण को ज्योतिषी में अशोक घटनाओं में गिना जाता है। इस कारण से ग्रहण के दौरान पूजा पाठ करना और शुभ कार्य करना वर्जित माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि सूर्य ग्रहण के समय सूर्य पीड़ित हो जाते हैं जिसके कारण सूर्य की शुभता में कमी आ जाती है।

साल का पहला सूर्य ग्रहण दिखना शुरू हो चुका है लेकिन भारत में अब तक सूर्य ग्रहण नहीं दिख रहा है परंतु आस्ट्रेलिया में यहां सूर्य ग्रहण देखना शुरू हो चुका है।यह सूर्य ग्रहण सुबह 7:00 बजकर 4 मिनट में शुरू हो चुका है और दोपहर 12:29 पर समाप्त हो जाएगा। सूर्य ग्रहण की समय अवधि 5 घंटे 24 मिनट के लिए होगी। आपको बता दे कि यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए इस ग्रहण का सूतक काल माना नहीं जाएगा।

सूर्य ग्रहण कब लगता है

सूर्य ग्रहण लगता है जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के बीच आ जाता है और पृथ्वी पर छाया डालता है। इस अवस्था में सूर्य के प्रकाश को पूरी तरह से ढक लेता है।

सूर्य ग्रहण क्या भारत में दिखेगा

सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा। यह सूर्य ग्रहण चीन, अमेरिका, मलेशिया, फिजी, जापान, सोलोमन, बरूनी, सिंगापुर, थाईलैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, वियतनाम, ताइवान, इंडोनेशिया, फिलीपींस, समोआ, दक्षिण हिंद महासागर, दक्षिण प्रशांत महासागर आदि सभी जगहों पर दिखाई देगा।

सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करना चाहिए

• सूर्य ग्रहण के बाद गंगाजल से स्नान करना चाहिए और पूरे घर और देवी देवताओं को की शुद्धि करना चाहिए।

• सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य को नहीं देखना चाहिए।

• सूर्य ग्रहण के दौरान बाहर नहीं जाना चाहिए और इस बात का भी ध्यान रखें कि आप कोई भी गलत काम ना करें।

• सूर्य ग्रहण के बाद हनुमान जी की पूजा पाठ करनी चाहिए

सूर्य ग्रहण के दौरान क्या नहीं करना चाहिए

• सूर्य ग्रहण के दौरान शमशान पर और किसी सुनसान जगह पर नहीं जाना चाहिए। क्योंकि इस समय नकारात्मक शक्तियां हावी रहती है।

• सूर्य ग्रहण के समय सोना नहीं चाहिए।

• सूर्य ग्रहण के समय नहीं डालना चाहिए।

• सूर्य ग्रहण के समय यात्रा करने से बचना चाहिए और शारीरिक संबंध भी नहीं बनाना चाहिए।

सूर्य ग्रहण के दौरान खाना-पीना वर्जित क्यों होता है

सूर्य ग्रहण के दौरान कुछ भी नहीं खाना चाहिए यह धार्मिक शास्त्रों में बताया गया है की सूर्य ग्रहण के दौरान भोजन करने से स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है और यह भी बताया गया है कि सूर्य ग्रहण के समय भोजन करने से हमारे कर्मा और सभी पुण्य नष्ट हो जाते हैं।

सूर्य ग्रहण का किन किन राशियों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा जानिए

सूर्य ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव मेष राशियों पर पड़ेगा इसके अलावा वृश्चिक, कन्या, मकर, सिंह राशि के जातकों पर भी सूर्य ग्रहण का बुरा प्रभाव पड सकता है। वही साल का पहला सूर्य ग्रहण मीन राशि, मिथुन राशि, धनु राशि, वृष राशि के लिए बहुत ही शुभ रहेगा। साल का पहला सूर्य ग्रहण मेष राशि में लग रहा है।

इस बार का सूर्य ग्रहण खास क्यों है?

इस बार सूर्य ग्रहण के रूप में दिखाई देगा जिसे हाइब्रिड सूर्यगहण कहा गया है। यह सूर्य ग्रहण 100 साल में एक बार ही देखने को मिलता है। सूर्य ग्रहण के समय चंद्रमा की धरती से दूरी ना तो ज्यादा होती है और ना ही काम। इस सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य कुछ सेकंड के लिए रिंग जैसी आकृति बनाता है जिसे अग्नि कावलय कहा जाता है।

Leave a Comment