NEET के छात्र ने खुदकुशी से पहले बनाया था वीडियो: सबका करियर एक जैसा नहीं बनता, जिसका बन जाता है वह बहुत खुश रहता है, जिसका नहीं बनता वो क्या करता होगा

दुर्ग भिलाई। दुर्ग जिले में रहकर नीट की तैयारी करने वाले छात्र ने परीक्षा के 1 दिन पहले ही फांसी लगाकर सुसाइड कर ली थी। छात्र के परिजनों का कहना था कि उनका बेटा सुसाइड नहीं कर सकता तो पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू की। पुलिस मौके पर पहुंचकर कमरे को सील करके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। जांच में नेवई पुलिस को छात्रा प्रभात कुमार निषाद का एक वीडियो मिला है जो कि उसने सुसाइड करने से पहले बनाया था।

आपको बता दें कि छात्र प्रभात कुमार निषाद बेमेतरा जिले के बेरला का रहने वाला था और पिछले 1 साल से नीट की तैयारी करने के लिए दुर्ग में किराए के मकान रहता था। कल रविवार को नीट की परीक्षा थी और उसने 1 दिन पहले ही शाम को अपने कमरे में फांसी लगाकर सुसाइड कर ली।

नेवाई पुलिस ने प्रभात का मोबाइल जब तक करके उसकी जांच की तो दो वीडियो मिले हैं जो उसने सुसाइड करने से पहले बनाए थे। प्रभात के पिता कमलेश निषाद शिक्षक है और अपने बेटे की मौत की खबर सुनकर तत्काल भिलाई पहुंचे। वही परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है उनका कहना था कि प्रभात नीट की परीक्षा को लेकर काफी सीरियस था इसलिए वह नीट की कोचिंग करने के लिए भिलाई आया था

पहले वीडियो में प्रभात ने कहा था हेलो दोस्तों मैं प्रभात इस घटिया समाज और घटिया शिक्षा प्रणाली के साथ काम कर रहा हूं। मैं पूरी तरह से फेल हो चुका हूं। मैं ऐसा इंसान हूं जो अपने मिजाज के साथ खुलकर रहना पसंद करता हूं और रहता भी था। अब मैं बहुत डरा हुआ हूं कि मैं आगे क्या करूंगा क्या नहीं करूंगा। ज्यादा कुछ नहीं है मेरे पास बोलने को।

दूसरे वीडियो में प्रभात ने कहा था मुझे पिछले 1 महीने से वॉमिटिंग हो रही थी। पता नहीं यह क्या था। कभी भी वोमेंटिग हो जाती थी तभी उसमें ब्लड भी आता था कभी नहीं आता था। मैं बहुत सारी चीजों के साथ गुजर रहा हूं। सबका कर यार एक जैसा नहीं बनता जिसका बन जाता है वह बहुत खुश रहता है। जिसका नहीं बनता वह क्या करता होगा। सभी की उम्मीदें होती है कि यह करेगा वो करेगा। पेरेंट्स को लगता है प्रेशर नहीं है एग्जाम ही तो है। पर ऐसा नहीं है बहुत सारी चीजें हमारे मन में भी रहती है मुझे नहीं पता मैं क्या क्या बोल रहा हूं कुछ गलत भी बोल रहा हूं तो नहीं पता। इसके बाद प्रभात ने खुदकुशी कर लिया

प्रभात कुमार निषाद डॉक्टर बनने के लिए नीट की तैयारी कर रहा था और वह बेमेतरा जिले के बेरला के रहने वाले शिक्षा कमलेश निषाद का बेटा था। पिछले 1 साल से नीट की तैयारी करने के लिए अपने घर को छोड़कर दुर्ग जिले के नेवाई में किराए के मकान पर रहता था। प्रभात ने दो बार नीट की परीक्षा दे चुका था लेकिन उसे सफलता नहीं मिली थी। प्रभात को पता था कि अब मेडिकल की पढ़ाई नहीं हो पाएगी लेकिन पिता का सपना पूरा करने के लिए वह अपने मन से कैरियर नहीं बना पा रहा था हर बार उसके ऊपर डॉक्टर बनने का प्रेशर बढ़ता जा रहा था इसलिए उसने परीक्षा के 1 दिन पहले 6 मई 2023 को अपने कमरे में फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया।

प्रभात के दोस्तों का कहना है कि वो नीट की परीक्षा को लेकर काफी प्रेशर में था प्रभात एक महीना से कह रहा था कि वह परीक्षा नहीं दे पाएगा उससे अब या नहीं हो पाएगा वह एग्जाम से 1 दिन पहले अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर लेगा। प्रभात के दोस्त प्रभात को बहुत समझाते थे लेकिन यह बात प्रभात ने अपने परिजनों को नहीं बताया और आखिरकार परीक्षा के 1 दिन पहले उसने मौत को गले लगा लिया। माता पिता को अपने सपने बच्चों पर कभी भी नहीं थोपना चाहिए उनसे अधिक से अधिक बात करना चाहिए और उनके मन में जो भी बनने की इच्छा है उसे करने देना चाहिए और उसके हमेशा मदद करनी चाहिए।

 

Leave a Comment