Big Breaking News: अब गैर अनुसूचित क्षेत्रों के लिए मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ी पर्व सम्मान निधि योजना, हर पंचायत को मिलेंगे 10 हजार, मुख्यमंत्री 20 अप्रैल को करेंगे शुभारंभ

रायपुर। राज्य शासन ने आदिवासी क्षेत्रों के बादाम गैर अनुसूचित क्षेत्रों के लिए तीज त्यौहार, संस्कृति एवं परंपरा को संरक्षित करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ी पर्वत सम्मान निधि योजना प्रारंभ की जा रही है। 20 अप्रैल को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी इस योजना का शुभारंभ करेंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बस्तर संभाग मुख्यालय जगदलपुर में 13 अप्रैल को आयोजित भरोसा सम्मेलन में मुख्यमंत्री आदिवासी परब सम्मान निधि योजना प्रारंभ की थी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा 20 अप्रैल को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रारंभ की जा रही एक और योजना का उद्देश्य प्रदेश के गैर अनुसूचित ग्रामीण क्षेत्रों के रिश्तेदारों की संस्कृति एवं परंपरा को संरक्षित करना और इन त्योहारों, उत्सवों का मूल स्वरूप में आने वाले पीढ़ी को हस्तांतरण एवं संस्कृति परंपराओं का अभी लेखन करना है। समुदाय क्षेत्रों के गांव में स्थानीय उत्सव, त्योहारों, मेलामड़ाई का बहुत ही महत्व होता है ऐसे सभी उत्सव, त्योहारों, सांस्कृतिक परंपराओं को संरक्षित करने के उद्देश्य से प्रत्येक ग्राम पंचायत को राशि उपलब्ध कराई जाएगी। योजना की इकाई ग्राम पंचायत में होगी।

सभी ग्राम पंचायत को दो किस्तों में 10 हजार रुपए दिए जाएंगे उल्लेखनीय है कि प्रदेश के 61 विकासखंड समुदाय क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं। यह राशि मात्र समुदायिक विकास क्षेत्र के 6 हजार 111 ग्राम पंचायतों को दी जाएगी।

Leave a Comment