Bore Basi Day: छत्तीसगढ़ का बोरे बासी है पोषक तत्वों से भरपूर, इससे जुड़ी रोचक बातें और फायदे जानकर चौक जाएगे आप

रायपुर। Bore Basi Day: छत्तीसगढ़ में अलग-अलग प्रकार के पारंपरिक भोजन है जिसे लोग सदियों से खाते आ रहे हैं। गर्मी की चिलचिलाती धूप में खेतों में काम करने के दौरान शरीर को ठंडा रखने वाले बोरे बासी को छत्तीसगढ़ के सभी घरों में बनाया जाता है और खाया जाता है। पिछले साल बोरे बासी को एक नई पहचान मिली। राज्य सरकार ने मजदूर दिवस के अवसर पर 1 मई को बोरे बासी डे मनाने की घोषणा की। आज बोरे बासी दिवस को पूरे 1 साल हो गए हैं। इस अवसर पर हम आपको बोरे बासी से जुड़ी रोचक जानकारी और इसे खाने के क्या फायदे हैं इसके बारे में बताने वाले हैं तो आप हमारे साथ अन तक बनी रहे।

Bore Basi Day छत्तीसगढ़ में मेहनत करने वाले लोगों का मुख्य भोजन बोरे बासी है। हर समाज के लोग बोरे बासी का सेवन करते हैं। रात के बचे हुए चावल को पानी में भिगोकर रख देते हैं और उसे सुबह नाश्ता के तौर पर किया जाता है। ज्यादातर गर्मी के दिनों में बोरी बासी को खाना सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। बोरे बासी में बहुत सारे पोषक तत्व होने के कारण यह हमारे सेहत और स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है।

आइए जानते हैं बोरे और बासी में क्या अंतर है

बोरी और बासी बनाने की विधि बहुत ही सरल है बोरी और बासी बनाने के लिए सादा पानी और पका हुआ चावल की जरूरत होती है। बोरे से अर्थ जहां तुरंत बने हुए चावल से हैं जिसे पानी में डुबोकर खाया जाता है वही बासी को एक रात पानी में डुबोकर रखा जाता है जिसे अगले दिन सुबह या दोपहर में खाया जाता है। कई लोग चावल के पसिया को भी भात और पानी के साथ मिलाकर खाते हैं यह एक प्रकार का पौष्टिक होने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी होता है।

प्याज और अचार बोरे बासी का स्वाद बढ़ा देते हैं

बोरे या बासी को प्याज और आचार के साथ खाओ तो उसका साथ और ज्यादा बढ़ जाता है। छत्तीसगढ़ में गर्मी के मौसम में भाजी की पैदावार ज्यादा होती है। और इन भाजियो के साथ भी बोरे बासी का स्वाद 2 गुना बढ़ जाता है कई लोग बोरे बासी में दही मिलाकर भी खाते हैं।

बोरे बासी खाने के फायदे

• बोरे बासी खाने से उच्च रक्तचाप नियंत्रित रहता है और पाचन क्रिया भी बहुत जल्द होती है कब्ज और गैस की समस्या को दूर करता है।

• बोरे बासी में पानी की भरपूर मात्रा होती है जिसके कारण गर्मी के मौसम में ठंडक मिलती है और इसे खाने से लू भी नहीं लगती है।

• बोरे बासी के साथ दही और मही का भी सेवन किया जाता है जिसमें अधिक मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है।

• बांसी के साथ ज्यादातर भाजी खाया जाता है भाजी में तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

• बासी खाने से पथरी की समस्या भी दूर हो जाती है चेहरे में ताजगी और शरीर में स्फूर्ति आ जाती है बांसी के साथ पसिया और पानी से मांसपेशियों को पोषण भी मिलता है।

• बासी खाने से मोटापे की समस्या दूर होती है बांसी का सेवन करने से अनिद्रा की बीमारी से भी बचाता है बांसी में कार्बोहाइड्रेट, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिंस, विटामिन b12, खनिज लवण और जल अधिक मात्रा में होती है।

Leave a Comment