Balod News बालोद की यह कहानी किसी फिल्मी स्टाइल से कम नहीं… 20 साल पहले की थी हत्या, 2 साल में दोबारा खुदाई की तो मिली है हड्डियां, सबूत जुटाने में जुटी पुलिस

बालोद। छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में एक गांव में फिल्मों जैसे घटना घटिया। जहां 20 साल पहले एक शख्स ने अपने दोस्तों की हत्या करके उसे दफना दिया था। इस हत्या के मामले में पुलिस दफन हो चुके लाश को ढूंढ कर सबूत जुटाने में लगी हुई है। इस हत्या में कितनी सच्चाई है वह फॉरेंसिक जांच के बाद ही सामने आएगी। जैसा कि अजय देवंगन फिल्म दृश्यम टू में हत्या करने की बात को कबूल करते हैं और पुलिस लास्को बरामद करती है और लास्ट में फॉरेंसिक रिपोर्ट की पुष्टि नहीं हो पाती है ऐसे ही कुछ घटना यहां देखने को मिल रहा है।

फिर हाल फॉरेंसिक रिपोर्ट नहीं आई है लेकिन हड्डियां मिलने से पुलिस इसे तो सबूत मांग रही है। अब यहां देखते हैं कि यह कथित हत्या का मामला सही साबित होगा या एक अंधविश्वास है। ग्राम करकाभाट में दोबारा कहने पर आरोपी टीकम कोल्यारी के निशान देही पर खुदाई की गई जिसमें वह सारे हड्डियां और एक कपड़ा मिला है। आरोपी का कहना है कि उन्होंने 20 साल पहले अपने दोस्त छाबेश्वर कोयल की हत्या कर दी थी और यहीं कहीं दफनाया था और अभी 20 साल बाद उसकी आत्मा मुझे सपने में आकर सताती है और अपने गुनाह कबूल करने के लिए कहती है।

आरोपी पुलिस को सारी बात बताया लेकिन पुलिस को अभी तक ज्यादा कुछ हासिल नहीं हुआ है 2021 बी में इसी प्रकार की खुदाई की गई थी लेकिन कुछ नहीं मिला था। 19 अप्रैल 2023 को फिर से दूसरी बार खुदाई हुई तो कुछ हड्डियां सिक्का और एक कपड़ा मिला है। यह कंकाल मृतक का है या किसी और का इसकी पुष्टि फॉरेंसिक जांच में होगी।

मामला 2021 में सामने आया था

टीकम कोल्यारी उम्र 40 वर्ष ने 2021 में कहा था कि फरवरी 2003 में मैंने अपने दोस्त छाबेश्वर गोयल की हत्या करके उसे दफना दिया था जिसके बाद बांस से पुलिस प्रशासन की टीम खुदाई करवा रही है। अचानक इस प्रकार आरोपी टीकम द्वारा थाने में पहुंचकर हत्या करने की बात बताया जाना कई सवाल पैदा कर रहा है वही उनके द्वारा जो रहस्य भरी बातें बताई जा रही है वह अंधवश्वास की ओर इशारा कर रहा है। आरोपी टीकम कोलयारी का कहना है मुझे अपने दोस्त छबेश्वर परेशान करती है जिसके कारण में एक बैगा के पास जा रहा था और उसने सलाह दी कि आप अपना अपराध कबूल कर लो और मैं पुलिस थाना गया।

प्रेमिका को परेशान करता था इसलिए मैंने हत्या की और उसके बाहर जाने की झूठी साजिश रची

आरोपी टीकम कोलियारा का कहना है कि वर्तमान में उनकी जो पत्नी है वह पहले उनकी प्रेमिका थी जब उनकी उम्र 18 वर्ष की थी तो उनकी प्रेमिका को उनके दोस्तों छाबेश्वर बहुत परेशान करता था जिसकी शिकायत प्रेमिका ने मुझसे की थी इसके बाद मैंने मौका देख कर उसे ऐसी जगह पर बुलाया और बेहोशी की दवा देखकर उसकी हत्या कर दी। किसी को शक ना हो इसलिए मैंने अपने दोस्त की आवाज में उनके घर वालों को फोन करके यह कह दिया कि मैं कमाने खाने के लिए बाहर जा रहा हूं और कभी लौट कर नहीं आऊंगा और आप लोग मुझे ढूंढने की कोशिश भी मत करना। इस प्रकार का चाल चलने के बाद कभी छाबेश्वर के घर वलों ने उन्हें ढूंढने का प्रयास नहीं किया और यह उनका यह राज, राज ही रह गया।

कलेक्टर से दोबारा जांच की मांग की थी परिवार वालों ने

खुदाई के दौरान सन 2021 में कुछ ना मिलने के कारण परिवार वाले बहुत दुखी थे उन्हें तो पहले यह लग रहा था कि उनका बेटा जिंदा है लेकिन आरोपी के बयान के बाद हत्या की आशंका थी। जिसके चलते कुछ दिन पहले ही परिवार वालों ने कलेक्टर से मुलाकात करके इस मामले के बारे में दोबारा जांच करने की मांग की थी। इसके बाद राजस्व विभाग की टीम ने यहां खुदाई करवाई और अब जाकर कंकाल मिला है।

Leave a Comment