Kawardha Breaking: आसमानी आफत ने बैगा परिवार पर बरपाया कहर, घर के छप्पर उड़े और अनाज पूरी तरह से भीग गया, भूखे प्यासे खुले आसमान के नीचे रात गुजारा

कवर्धा। छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में आसमानी आफत ने बैगा परिवार पर कहर बरपाया है। भूख प्यास में बैगा परिवार को खुली आसमान के नीचे रात गुजारनी पड़ी। तेज आंधी तूफान और बारिश के कारण बैगा परिवार के घर के छप्पर उड़ गए और अनाज भीग गया है। महिलाओं और छोटे बच्चे समेत भूखे प्यासे खुले आसमानों के बीच रात गुजारना पड़ा।

रविवार को दोपहर के बाद कबीरधाम में वन क्षेत्र में आंधी तूफान के साथ तेज बारिश हुई घंटे भर बारिश के चलते वन क्षेत्र में रहने वाले लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया। कुकदुर तहसील क्षत्र में 30 से 40 गांव में मूसलाधार बारिश हुई। ग्राम घोघरा के बैग आदिवासी के 5 गरीब आदिवासी परिवारों का घर के छप्पर इस आंधी तूफान में उड़ गए।

जिसके कारण उनके घर का सारा सामान भीग गया और उनके द्वारा पा ले गए मुर्गियां भी मर गई और क्षेत्र में बिजली सेवा भी नहीं है। मूसलाधार बारिश के कारण छोटे बच्चे और महिलाओं समेत भूखे प्यासे खुले आसमान के बीच रात गुजारना पड़ा। क्योंकि पानी से सभी समान भीग गया था इसलिए उन्हें रात भर भूखे ही गुजारना पड़ा।

फिर से सुबह आदिवासी परिवार ने अपने उजड़े छप्पर को सवार थे दिखा लेकिन कोई भी सरकारी जनप्रतिनिधि इनका हालचाल जानने और सहायता करने के लिए नहीं पहुंचे। भैया परिवार के 5 परिवारों पर बारिश और तेज आंधी तूफान ने कहर बरपाया है।

Leave a Comment